तू भक्तों का रखवाला है Tu Bhakton Ka Rakhvala Hai

तू भक्तों का रखवाला है Tu Bhakton Ka Rakhvala Hai

तू भक्तों का रखवाला है Tu Bhakton Ka Rakhvala Hai

तू भक्तों का रखवाला है सिर मोर मुकुट बंसीवाला है-2

हर जीव की धड़कन तू है तू-2 हर श्वांसचलाने वाला है

देवकी गर्भ में आया, वासु ने गोद उठाया

बंद जेलों के अंदर तूने तो दर्श दिखाया,

तू कंस के पहरेदारों को खुद आप सुलाने वाला है तू भक्तों…

गया नंद गांव में था, रहा नंद छांव में था-2

कहीं माखन चुराये, कहीं मिट्टी भी खाए-2

क्या देखेगी मैया तू मुख में, ब्रह्मांड दिखाने वाला है तू भक्तों…

वृन्दावन धाम तेरा, कृष्ण है नाम तेरा-2

तू ऐसी रास रचाए, सभी को नाच नचाए-2

गिरिवर को उठाया था नख पे-2 तू गऊ चराने वाला है तू भक्तों…

तू यहां नहीं तू वहां नहीं मत पूछो तू है कहां नहीं-2

कुछ बहरों में कुछ अंधों में तू रहता मस्त मलंगो में-2

अन्दर के पट को खोल जरा, तू उसे नजर आने वाला है तू भक्तों…

 —————-

Tu bhakto ka rakhwala hai sir mor mukut bansiwala hai -2
hr jeev ki dhadkan tu hai tu-2
hr shras chalane wala hai
devki garbh mai aaya, vasu ne goud uthaya
band jailo ke andar tune to darsh dikhaya
tu kans ke pahredaaro ko khud aap sulane wala hai tu bhakto….
gaya nand gav mai tha, raha nand chav mai tha-2
kahi makhan churaye, kahi mitti bhi khaye-2
kya dekhegi maiye tu mukh mai, bhamand dikhane wala hai tu bhakto….
varndavn dham tera, krishan hai naam tera-2
tu aisi raas rachaye, sabhi ko nach nachye-2
girvar ko uthaye tha nakh pe-2
tu gau charane wala hai tu bhakto…
tu yahan nahi tu waha nahi mat pucho tu kaha nahi-2
kuch bahro mai kuch andho mai tu rahta mast malango mai -2
andar ke pr ko khol jara, tu use nazar aane wala hai tu bhakto…

Click here to see list of Aarti and Bhajans

Leave a Reply