आरती जसोदा मैया जी की Jashoda Maiya ki Aarti Lyrics

आरती जसोदा मैया जी की  Jashoda Maiya ki Aarti Lyrics with video song

 आरती जसोदा मैया जी की क्यों न मंगल गाये जसोदा-2,
 मैया क्यों न मंगल गाये…
 
कोट-2 ब्रह्माण्ड के करता, जो तेरा ध्यान लगावे, गावे कोट पुनीत है-2
जगमग जोत जगाये॥ हाँ क्यों न मंगल…..
 
शिव संकादिक और ब्रह्मादित तेरा निरस यश गायें,
शेष सहस्त्र मुख जट न रटत है जो तेरा पार ना पावे।क्यों न मंगल…
 
पूर्ण ब्रह्म सकल अविनाशी, जो तेरी गऊएं चराये,
जसोदा मैया जो तेरी भेंट चढ़ाये मात जसोंदा करे आरती सूरदास यश गावें॥
क्यों ना मंगल…
 
अच्युतम केश्वम श्रीराम नारायंण कृष्ण दामोदरा

Leave a Reply