मित्र दोस्त Friend Quotes Thoughts and Slogans in Hindi

मित्र/दोस्त Friend Quotes in Hindi, Quotes and Thoughts, Famous collection of Hindi Quotes Thoughts and Slogans

Friend Quotes in Hindi

Friend Quotes

कभी परिहास में भी मित्र को ठेस नहीं पहुँचानी चाहिए। -साइरस

दोस्ती बराबर वाले से करें, क्योंकि जहाँ बराबरी नहीं है, दोस्ती ज्यादा दिन नहीं टिकती –प्लेटो

मित्रता करने में शीघ्रता मत कारों, परंतु करो तो अंत तक निभाओ। -सुकरात

दृढ़ मित्रता के लिए मित्र से बहस करना और उधर लेना-देना छोड़ दो। -चाणक्य

जीवन का आनंद केवल उसने खो दिया है जो नये मित्रों पर विजय नहीं पा सकता। -मिशेल

सच्चा मित्र वही है जो संकट के काम आए। -अंग्रेजी लोकोक्ति

जिस प्रकार पुरानी लकड़ी जलने में उपयोगी है, पुराना घोडा चढ़ने में अच्छा, पुरानी पुस्तकें पढ़ने में सुंदर तथा पुरानी मदिरा पीने से लाभकर, उसी प्रकार पुराने मित्र भी सदैव विश्वसनीय एवं श्रेष्ठ होते हैं। -लियोनार्ड राइट

मूर्ख मित्र से बुद्धिमान शत्रु अच्छा होता है। -वेदव्यास

विवेकी मित्र ही जीवन का सबसे बड़ा वरदान है। -यूरिपिडीज

सच्चा मित्र आनन्द को दुगुना तथा दुःख को आधा कर देता है। -बेकन

हमारा यदि कोई सच्चा मित्र न हो तो यह संसार निर्जन वन के समान प्रतीत होगी। -बेकन

मित्र दुर्लभ है; इसका कारण यह है कि सही इन्सान तक मुश्किल से मिलते हैं। -जोसेफ रो

विदेश में विधा दोस्त होता है, गृह में भार्या दोस्त है, रोगी का दोस्त औषध और मरे का दोस्त धर्म है। -चाणक्य

सबसे निकृष्ट मित्र वह है जो अच्छे दिनों में पास आता है और मुसीबत के दिनों में त्याग देता है। -एक कहावत

केवल उदार हृदय वाले ही सच्चे मित्र हो सकते हैं। नीच और कायर मनुष्य सच्ची मित्रता को नहीं जानता। -चार्ल्स किंग्सले

मित्र धनी हो या निर्धन, सुखी हो या दुःखी अथवा निर्दोष हो या दोषी; वह हमारे लिए सबसे बड़ा सहायक होता है। -वाल्मीकि: रामायण

विवाह और मित्रता समान स्तर वाले से करनी चाहिए। -हितोपदेश

एक सच्चा मित्र दो शरीर में एक आत्मा के समान है। -अरस्तू

सात पग एक-साथ चलने से ही सत्पुरूषों में मैत्री हो जाती है। -महाभारत

सच्चा मित्र वह है जो मुँह पर चाहे कड़वी कहे पर पीछे सदैव बड़ाई करे। -हरिभाऊ उपाध्याय

मित्र पाने का एक ही मार्ग है, स्वयं किसी का मित्र बन जाना। -एमर्सन

मौन या उपेक्षा से बहुत-सी मित्रताएँ समाप्त हो जाती हैं। -कहावत

तीन विश्वासी मित्र होते हैं-वृद्धा पत्नी, बूढ़ा कुत्ता और नकद धन। -फ्रैंकलिन

मिलने पर मित्र का आदर करो, पीठ पीछे उसकी प्रशंसा करो तथा आवश्यकता के समय उसकी सहायता करो। -अरस्तू

सबसे निकृष्ट मित्र वह है जो तुम्हारी चापलूसी करता है और तुम्हारे अवगुणों पर परदा डालता है। -एक सूक्ति

आवश्यकता के समय काम आने वाला मित्र वास्तव में मित्र है। -कहावत

दोषरहित मित्र का पाया जाना अति कठिन है। इसलिए मित्रों के दोषों का वर्णन करना उचित नहीं। -कहावत

आपका मित्र वह है जो आपके विषय में सब कुछ जानता है और उसी रूप में आपसे प्यार करता है। -अल्वर्ट हबार्ड

वही सच्चा मित्र है, जो दूसरों के बहकावे में आकार फूट का शिकार न बने। -सूतनिपात

सच्चा प्रेम दुर्लभ है, सच्ची मित्रता और भी दुर्लभ है। -ला फौंटेन

मनुष्य जो स्वयं करे भूल जाए और जो दूसरे स ले उसे सर्वदा याद रखे। एमआईटीराता की यही मूल जड़ है। -ड्यूमाज

मैत्री परिस्थितियों का विचार नहीं करती। अगर यह विचार बना रहे तो समझ लो मैत्री नहीं है। -प्रेमचंदमित्रता का प्रकाश तो ज्वलित फास्फोरस के प्रकाश की भाँति होता है, जिसका तीव्रतम आभास घनीभूत तमराशि में ही होता है। -कामवैल

उस व्यक्ति से मित्रता मत करो जिसने तीन मित्र बनाकर त्याग दिए हों। -लैवेटर

संपन्नता तो मित्र बनती है, किन्तु उसकी परख विपदा में ही होती है। -अनाम

मित्रों की आलोचना करते समय यदि आपके मन को संताप पहुँचता है तो आप उनकी आलोचना करना बंद न कीजिए-जो कहना हो निर्भर होकर कहिए; किन्तु आपको उनकी आलोचना में रस आने लगे तो कृपया तत्काल अपनी वाणी पर लगाम लगा लीजिए। -डेल कार्नेगी

दूध ने अपने पास आए हुए जल को अपने सब गुण दे दिए। जल ने भी दूध को जलते देख कर अग्नि में अपने को भस्म कर दिया। मित्र पर ऐसी आपत्ति देखकर दूध आग में गिरने के लिए उछलने लगा, जब उसमें जल फिर आ मिला तब शांत हो गया। सज्जनों की मित्रता ऐसी ही होती है। -भर्तृहरि

यदि दृढ़ मित्रता चाहते हो तो मित्र से बहस करना, उधार लेना-देना और उसकी स्त्री से बातचीत करना छोड़ दो। यही तीन बातें बिगड़ पैदा करती है। -चाणक्य

जब हम देवों से मित्रता स्थापित कर लेते हैं तभी हम मनुष्यों में मित्रता का संचार कर पते हैं। -थोरो

सज्जनों की मैत्री का जन्म आपस की बातचीत से ही हो जाता है। -कालिदास

चिड़चिड़ाहट से भरी मित्रता कभी-कभी उसके भी बुरी होती है, जितनी खामोश शत्रुता। -एडमंड बर्क

सच्ची मित्रता में उत्तम से उत्तम वैध की-सी निपुणता और परखहोती है। -रामचंद शुक्ल

मित्र के लिए जीवनदान देना उतना कठिन नहीं है जितना कठिन की ऐसा मित्र खोजना जिसके लिए जीवनदान किया जा सके। -होमर

न तो संसार में कोई तुम्हारा मित्र है और न शत्रु; तुम्हारा अपना व्यवहार ही शत्रु अथवा मित्र बनाने का उत्तरदायी है। -चाणक्य

अपने मित्रों को सदैव संतुष्ट रखने का सर्वोत्तम ढंग है की न तो उन्हें ऋण दो और न कभी उनसे ऋण लो। -पाल द’ कॉक

जीवन में मित्रता से अधिक और कोई प्रसन्नता नहीं। जानसन इस संसार में मित्रता से अधिक मूल्यवान अन्य कोई वस्तु नहीं है। -सिसरो

मित्रता खुशी को दुगना करके और दुःख को बाँट कर प्रसन्नता बढ़ाती है तथा मुसीबत कम करती है। -जोसफ एडिसन

मित्रता को धीरे-धीरे उच्चता के शिखर पर चढ़ने दो। यदि शीघ्रता करोगे तो यह शीघ्र ही प्राणहीन हो जाएगी। -फुलर

बहुत लोगों से मित्रता मत करो। -पाइथागोरस

केवल सज्जनों में सच्ची मैत्री हो सकती है। -सिसरो

अगर तुम्हारे पचास मित्र हैं तो भी कम हैं और यदि तुम्हारा एक भी शत्रु है तो भी पर्याप्त है। -इटालियन लोकोक्ति

सैकड़ों मित्र बनाने चाहिए, चाहे वे जो कोई हो। -हितोपदेश

कहि रहीम संपति सगे, बनत बहुत बहु रीत। विपत्ति कसौटी जे कसे, तेई साँचे मीत॥ -रहीम

मनुष्य की सबसे अच्छी मित्र उसकी दस अंगुलियाँ हैं। -रॉबर्ट कॉलिर

‘मित्र’-ऐसा व्यक्ति जिससे प्रत्युत्तर में कम से कम कमीनापन मिलने की आशा हो सके। -बालकृष्ण

जिसे दोषविहीन मित्र की तलाश है वह मित्रविहीन रहेगा। -तुर्की कहावत

अच्छा मित्र प्राप्त करने से पहले स्वयं अच्छा मित्र बनना आवश्यक है। -एमर्सन

जगत में सब एक-दूसरे के साथ मित्र भाव से रहें तो जगत का रूप बदल जाए। -महात्मा गाँधी

यदि आप किसी बड़े आदमी को अपना मित्र बनाना चाहते हैं, तो उसकी गलती करने पर उसे सुधार दो; यदि आप किसी छोटे आदमी कॉ मित्र बनाना चाहते हैं, तो उसकी प्रशंसा करो। -थॉमस एच॰ नेल्सन

Leave a Reply