कर्त्तव्य Duty Quotes Thoughts and Slogans in Hindi

कर्त्तव्य Job, Service Duty Quotes in Hindi, Quotes and Thoughts, Famous collection of Hindi Quotes Thoughts and Slogans

Duty Quotes in Hindi

Duty Quotes

वीर होने के लिए मनुष्य को अपने कर्त्तव्य से अधिक काम करना होता है। -रेनाल्ड्स

सबसे अच्छा यही है कि तू अपना कर्त्तव्य कर और शेष ईश्वर के अधीन छोड़ दे। -लांगफ़ेलो

मैं सो गया, मैंने स्वप्न देखा कि जीवन सुंदरता है, मैं जाग गया, मुझे पता चला की जीवन कर्त्तव्य है। -अज्ञात

मौजूदा क्षण के कर्त्तव्य का पागल करने से आने वाले युगों तक का सुधार हो जाता है। -एमर्सन

कर्त्तव्य के आगे प्रेम का बलिदान देना चाहिए। -अज्ञात

संसार में जो बड़े लोग हो गये हैं, जिनकी किर्ति से मनुष्य जाति का इतिहास प्रकाशित है, यह सब उनकी कर्त्तव्यनिष्ठा का ही फल है। -अज्ञात

रोष मिटे कैसे क़हत, रिस उपजवात बात।  

ईधर डारे आग में, कैसे आग बुझात॥

कर्त्तव्य का पालन संकल्प से नहीं होता है, जैसे सोते हुए सिंह के मुंह में मृग अपने आप नहीं चला जाता। -पंचतंत्र

मानव की सेवा करना मानव का सर्वप्रथम कर्त्तव्य है। -विनोबा भावे

कर्त्तव्य कोई एसी वस्तु नहीं जिसको नाप-जोखकर देखा जाए। शरतचंद्र

जो कर्त्तव्य से बचाता है, लाभ से वंचित रहता है। -म्योडोर पार्कर

कर्त्तव्य में मिठास है। -महात्मा गाँधी

वैर लेना या करना मनुष्य का कर्त्तव्य नहीं है-उसका कर्त्तव्य क्षमा है। -महात्मा गाँधी

जो काम अभेद-भावना की ओर ले जाता है, वह सत्कर्म है, कर्त्तव्य है, करणीय है। -डॉ॰  सम्पूर्णानन्द

जो व्यक्ति सत्य के साथ कर्त्तव्य-परायणता में लीन है, उसके मार्ग में बाधक होना कोई सरल कार्य नहीं है। -रवीन्द्रनाथ ठाकुर

दूसरे कर्त्तव्य को पूर्ण करने की क्षमता ही एक कर्त्तव्य की पूर्ति का पुरस्कार है। -जार्ज इलियट

एक कर्त्तव्य-पूर्ति का पुरस्कार है दूसरे कर्त्तव्य को पूर्ण करने की योग्यता। जार्ज इलियट

अपना कर्त्तव्य करने से हम उसे करने की योग्यता प्राप्त करते हैं। ई॰ वी॰ पूसे

ईश्वर की इच्छा के अनुसार चलना मनुष्य का परम कर्त्तव्य है। -लियो टाल्सटाय

कर्त्तव्य-भबना कर्म में उपयोगी है, परन्तु सम्बन्धों के संदर्भ में अप्रिय का हेतु होती है। -लॉर्ड बर्टेंड रसेल

जो कार्य आपके सामने है उसे शीघ्रता एवं निष्कपट भाव से करना ही कर्त्तव्य है-यही आज के अधिकार की पूर्ति है। -गेटे

भावनाओं में बहकर कर्त्तव्य से विमुख होना अस्वस्थ मानसिकता क घोतक है। -स्वामी विवेकानंद

कर्त्तव्य-पालन स्वभावतः आनंद में पुष्पित होता है। -फिलिप्स बुक्स

Read Also – प्रेरणादायक अनमोल वचन विचार सुविचार स्लोगन

Leave a Reply