ट्रैफिक मे क्लच को कैसे कण्ट्रोल करे | Clutch control tips in slow moving traffic

Clutch control tips in slow moving traffic

जब कोई भी मैन्युअल गाडी चलाना शुरू करता है तो सबसे ज्यादा प्रॉब्लम और सबसे ज्यादा पूछे जाने वाला question है की क्लच को कैसे कण्ट्रोल करे। यह और भी बड़ी प्रॉब्लम बन जाता है जब आपको traffic मे कार चलाना होता है। Traffic मे क्लच कण्ट्रोल सीखना बहुत जरुरी है, नहीं तो आपकी कार बार बार मे बंद होने का डर बना रहता है तो आज के इस पोस्ट मे हम बात कर रहे है क्लच कण्ट्रोल की।

क्लच कण्ट्रोल सिखने से पहले हम यहाँ पर आपको बताते है की क्लच कैसे काम करता है – जब भी आप गाडी मे क्लच प्रेस करते है तो यह इंजन एवं गियरबॉक्स को अलग करने का काम करता है। जैसे ही क्लच प्रेस किया जाता है इंजन और गियरबॉक्स आपस मे disconnect हो जाते है और उस समय पर आप गाडी मे गियर चेंज कर सकते है, गाडी रोक सकते है और गाडी धीरे कर सकते है इसलिए मैन्युअल कार मे क्लच का बहुत जरुरी role होता है। अब बात करते है की क्लच को किस तरह से कण्ट्रोल किया जाए जिससे गाडी ट्रैफिक मे बंद ना हो। तो इसके लिए एक बात और जानना जुरूरी है और वो है biting point ।

clutch control in traffic condition hindi

Clutch control in traffic condition hindi

Biting point क्या होता है : जैसे ऊपर बताया की जब आप क्लच प्रेस करते है तो इंजन और gearbox आपस मे disconnect हो जाते है लेकिन जब वापस से क्लच को रिलीज़ किया जाता है तो गियरबॉक्स वापस से इंजन से कनेक्ट होने के लिए रेडी होता है। तो जब भी आप क्लच release करते है एक ऐसी position आती है जहाँ पर इंजन की पावर वापस से गियरबॉक्स से कनेक्ट होना शुरू करती है। इस position को biting point कहा जाता है। इसका मतलब जब आप biting पॉइंट पर होते है तो उस समय पर गाडी मूव नहीं कर रही होती है, मूव करने की position मे होती है। कार चलाना सिखने के लिए यह position आपको जानना बहुत जरुरी है क्योकि इसकी हेल्प से आपकी कार को आप आगे बढ़ाना सीखते है।

अब बात करते है की traffic मे कार को कैसे चलाएंगे : Traffic मे गाडी को चलाने के लिए तीन बाते जानना बहुत जरुरी है की क्लच को कितना प्रेस किया जाए, किस स्पीड पर गाडी चलाये और कौनसा गियर यूज़ करे। तो यहाँ पर ये बताना जरुरी है की जब आप बम्पर टू बम्पर ट्रैफिक मे गाडी चलाते है तो आपकी गाडी की स्पीड max 5-6 से ज्यादा नहीं जाती तो इस तरह की condition मे आप निचे दी गयी steps follow करे –

  1. Slow moving traffic मे गाडी को फर्स्ट गियर मे रखे| 
  2. फर्स्ट गियर मे रखने के बाद क्लच को कभी भी पूरा नहीं छोड़े और आपको क्लच को partially प्रेस करके गाडी चलानी होगी |
  3. जब आपकी गाडी 4-5 km की स्पीड पर चल रही हो तो उस समय पर आपकी गाडी फर्स्ट गियर मे होनी चाहिए, क्लच partially प्रेस होना चाहिए और जरुरी होने पर accelerator पर हल्का सा air रखा होगा|
  4. अब ट्रैफिक मे अगर आपको वापस से गाडी रोकनी हो तो क्लच पूरा प्रेस करे और accelerator से पैर हटा कर ब्रेक पर पैर रखे|
  5. वापस से गाडी चलानी हो तो फर्स्ट गियर मे ही क्लच धीरे धीरे छोड़े और biting point पर आने के बाद धीरे धीरे accelerator प्रेस करना स्टार्ट करे| biting पॉइंट क्रॉस होने तक क्लच को छोड़ते रहे और फिर धीरे धीरे accelerator को प्रेस करे और गाडी को आगे बढ़ाये |

Note : अगर आपकी गाडी फर्स्ट गियर की मिनिमम स्पीड से आगे नहीं जा पाती तो आपको clutch पूरा नहीं छोड़ना है otherwise गाडी बंद हो जाएगी | इसलिए ट्रैफिक condition मे ध्यान रखे की clutch को partially प्रेस करके ही गाडी चलानी होगी |

इसको प्रक्टिकली समझने के लिए निचे दिया गया वीडियो देखे – 

Leave a Reply