कार मे कौनसी स्पीड पर कौनसा गियर लगाना चाहिए When to change gears in car

Speed Limit Of Gears Change

Car mai kis speed pr kaunsa gear hona chahiye : “Speed range for each gears in car” के बारे मे बात करने से पहले हम आपको बता दे की यह post उन लोगो के लिए बहुत ख़ास है जो की स्पीड और गियर के combination मे बहुत ज्यादा भ्रमित रहते है और उनको किस स्पीड मे कौनसा गियर लगाना चाहिए नहीं पता होता|

When to change gears in car hindi

change gears

गियर चेंज करना नए ड्राइवर्स के लिए तो बहुत बड़ा चेलेंज हो सकता है क्योकि कार चलते वक़्त आपको कार कण्ट्रोल करने के साथ रोड पर नज़र भी रखनी होती है और क्लच स्पीड और गियर के कॉम्बिनेशन का भी ध्यान रखना होता है इसलिए बहुत बार नए कार ड्राइवर, स्पीड और गियर के कॉम्बिनेशन मे भ्रमित हो जाते है। लेकिन यह कुछ दिनों की प्रॉब्लम होती है और कुछ दिनों की प्रैक्टिस के बाद आपके पैर, हाथ और दिमाग अपने आप चीजों को कण्ट्रोल करने लगते है और आपको कुछ सोचना नहीं पड़ता लेकिन तब तक आपको गियर चेंज करते वक़्त कुछ बातो को ध्यान रखना चाहिए।

Read Also : Car Chalana Sikhna Step by Step

Read Also – Car ko reverse kaise kare

Read Also – Raat mai car drive kaise kare

Read Also – How to apply online driving license

आज हम आपको यहाँ पर बता रहे है गियर चेंज करना बहुत सारे फैक्टर्स पर निर्भर करता है| चलिए देखते है वो सभी फैक्टर्स –

  • सबसे पहला फैक्टर है की आप कौनसी गाडी ड्राइव कर रहे है – पेट्रोल और डीज़ल|
  • दूसरा फैक्टर है – जब आप गाडी चला रहे है तो उस समय आपकी गाडी का कितना वजन है|
  • तीसरा फैक्टर है – आप गाडी कहाँ चला रहे है – पहाड़ पर चढ़ते वक़्त, पहाड़ से उतरते वक़्त, हाईवे पर या फिर सिटी कंडीशन मे।

देखिये ऊपर बातये गए सभी फैक्टर इम्पोर्टेन्ट है लेकिन हम यहाँ पर आपको बता रहे है जेनेरिक फैक्टर, मतलब की अगर आप सामान्य कंडीशन मे सपाट रोड पर गाडी चला रहे है तो पेट्रोल और डीज़ल के लिए सही गियर स्पीड कितनी होती है –

पेट्रोल कार के लिए जेनेरिक गियर चेंजिंग लिमिट और स्पीड (सपाट रोड पर)-

  • फर्स्ट गियर मे गाडी चलाना शुरू करे|
  • सेकंड गियर change – जब गाडी की स्पीड 15 KM के लगभग हो|
  • थर्ड गियर मे change- जब गाडी की स्पीड लगभग 25 KM कम के लबभग हो|
  • चौथा गियर change- जब गाडी की स्पीड लगभग 30-32 KM के बिच हो|
  • पांचवा गियर change- जब गाडी की स्पीड लगभग 40-42 KM के बिच हो|

डीज़ल कार के लिए जेनेरिक स्पीड (सपाट रोड पर)-

  • फर्स्ट gear मे गाडी चलाना शुरू करे|
  • सेकंड गियर change – जब गाडी की स्पीड 10-15 KM के लगभग हो|
  • थर्ड गियर change- जब गाडी की स्पीड लगभग 25 KM के लबभग हो|
  • चौथा गियर change- जब गाडी की स्पीड लगभग 40-45 KM के बिच हो|
  • पांचवा गियर change – जब गाडी की स्पीड लगभग 50-55 KM के बिच हो|

यहाँ पर हम आपको बता दे की ये स्पीड जेनरिक है मतलब जनरल केस मे सपाट रोड पर लगभग सभी गाडी के लिए ये ही रहना चाहिए (+ – 5 KM) लेकिन आपको अगर आपकी गाडी के लिए सही और exact स्पीड जाननी है तो आप गाडी के manual मे जाए और आपके गाडी के मॉडल के लिए सही स्पीड क्या होनी चाहिए वहां पर चेक करे| 

गाडी के मैन्युअल और ऊपर बताई गयी स्पीड के आलावा अगर आप खुद जानना चाहते है तो गाडी चलते वक़्त गाडी के इंजन की आवाज पहचानने की कोशिश करे क्योकि जब भी आप गलत स्पीड मे गलत gears लगाएंगे तो गाडी गररर्र की आवाज करेगी या फिर इंजन का साउंड बढ़ जायेगा। इसके आलावा गलत गियर मे गाडी चलने पर आपकी गाडी वाईब्रेट (कंपन) भी करने लगती है| 

One Response

  1. HindiApni December 5, 2018

Leave a Reply