कार चलाना सीखे हिंदी में | Learn Car driving Tips | गाड़ी चलाना कैसे सीखे

Car chalana sikhe कार ड्राइविंग टिप्स Car driving tips in hindi

Learn Car Driving Tips in Hindi: आज इस पोस्ट मे हम आपको बता रहे है कुछ ख़ास car driving tips जिनको use करते हुए आप आसानी से car chalana sikhe सकते है| यहाँ पर car driving tips के साथ ही कार ड्राइविंग के लिए जो जरुरी कॉम्पोनेन्ट होते है उनके बारे मे भी बताएँगे और कार ड्राइविंग सीखने के साथ आपको (एक नए ड्राइवर को) किन बातो का ध्यान रखना पड़ता है उसके बारे मे भी बात करेंगे|

सबसे पहले हम आपको कार के कुछ इम्पोर्टेन्ट कंपोनेंट्स के बारे मे बता रहे है जो की car chalana sikhene के लिए बहुत जरुरी होते है |

  1. कार स्टीयरिंग : जैसे ही आप कार मे ड्राइविंग सीट पर बैठते है तो आपके सामने एक गोलाकार व्हील शेप मे कुछ दीखता है इसको steering कहा जाता है| यह स्टीयरिंग आपकी गाडी को किसी भी दिशा मे मोड़ने और गाडी को कण्ट्रोल करने के लिए काम मे आता है| इसके सहायता से आप गाडी को दाए, बाए, आगे और पीछे किसी भी दिशा मे मोड़ सकते है| गाडी मे बैलेंस बनाये रखने के लिए यह बहुत जरुरी होता है| इस कण्ट्रोल को use करने के लिए आपको आपके दोनों हाथो का प्रयोग करना पड़ता है|

    Car driving tips in hindi

    Car steering

  2. गियर : अगर आप अपनी गाडी मे ड्राइवर सीट पर बैठे है तो ड्राइवर सीट के उलटे हाथ की तरफ आपको गियर दिख जाएगा| इसका प्रयोग करने पर आपकी गाडी अलग अलग speed पर चल सकती है| अगर आप गाडी नहीं चला रहे होते है तो इसमें कोई गियर नहीं लगाना होता और उस पोजीशन को neutral कहते है लेकिन जैसे ही आप गाडी स्टार्ट करके चलने लगते है तो आपको गियर 1 मे डालना होता है फिर एक specific स्पीड के बाद गियर 2 एंड फिर 3 और आगे के गियर स्पीड के अनुसार change करने होते है | 

    car chalana sikhe hindi mai

    Gear System

  3.  हैंडब्रेके : जब आपकी कार नहीं चल रही होती और neutral position मे होती है तो कार किसी भी वजह से आगे पीछे ना हो जाये उसको रोकने के लिए handbrake होता है जिसको की पार्किंग ब्रेक भी बोलते है| हैंडब्रेके की पोजीशन गियर के पीछे की तरफ होती है| 

    Learn Car Driving in HINDI

    Learn Car Driving in HINDI

  4. एक्सेलरेटर : इसका प्रयोग आपके पैरो से किया जाता है यह आपके दाए पैर से कण्ट्रोल होता है| इसको दबाने से आप गाडी की स्पीड तेज और स्लो कर सकते है | जब आप इसको दबाते है तो इंजन तेजी से घूमता है इस पर से पैर हटा लेने पर इंजन की स्पीड कम हो जाती है|

    कार चलाना सीखे car chalana sikhe near me

    कार चलाना सीखे

  5.  ब्रेक : यह भी आपके दाए पैर से ही कण्ट्रोल krna होता है| जब आपको आपकी गाडी को रोकना होता है तो आपको आपका दाया पैर accelerator से हटा कर इस पर रखना होता है और जब आपको स्पीड बढ़ानी होती है तो आपको आपका दाया पैर ब्रेक से हटा कर accelerator पर रखना होता है|
  6. क्लच: यह आपके बाएं पैर से कण्ट्रोल होता है| जब भी आप गाडी मे गियर लगते है तो उससे पहले आपको clutch का प्रयोग करना होता है|

कार Driving Tips : ऊपर हमने कार chalane के लिए जरुरी कुछ components ke baare mai bataya hai | यहाँ पर हम आपको बता रहे है की कार चलाने से पहले आपको किन बातो का ध्यान रखना चाहिए –

  1. कार चलना स्टार्ट करने से पहले आपको ट्रैफिक के rules के बारे मे बेसिक जानकरी ले लेनी चाहिए|
  2. कार की ड्राइविंग सीट पर बैठने से पहले अपनी कार को एक बार ध्यान से देख ले और उसके dimensions मतलब लम्बाई चौड़ाई को समझ ले जिससे की आपको अपनी गाड़ी के बारे मे थोड़ा बहुत आईडिया हो जाये|
  3. कार स्टार्ट करने से पहले सीट बेल्ट बांध ले और ऊपर बताये गए components को एक बार ध्यान से कार मे देखे और मन मे सोचे की उनके क्या क्या functions है|
  4. अपनी सीटिंग पोजिशन ठीक रखें : अपनी कार की सीटिंग पोजिशन को सही रखना बहुत ज़रूरी होता है। बहुत बार देखा गया है की ड्राइवर इस इम्पोर्टेन्ट पॉइंट को अवॉयड करते है और कम्फर्ट का ध्यान रखे बिना गाडी चलाने लग जाते है लेकिन बाद मे उनको प्रॉब्लम आने लगती है जैसे सीट का जयदा आगे-पीछे होना, सीट की हाइट कम या जयदा होना aadi| इससे कभी aisa भी हो सकता है की आपके पैर ब्रेक और क्लच पर पूरी तरह से नहीं जा पाते| स्टीयरिंग पोजिशन का भी ध्यान जरूर रखें।
  5. गाड़ी तेज़ ना चलाएं|
  6. आगे वाली गाडी से दूरी बनाये रखे|
  7. हॉर्न का प्रयोग जरुरी होने पर ही करे|
  8. कभी भी तनाव में ड्राइव ना करें और शांत मन से कार ड्राइव करे |
  9. कार चलते वक़्त अलर्ट रहे और नज़रो को सामने रखे । कार के हैंडल से अपने हाथो को बिलकुल भी न हटायें।

Read Also – Car ko reverse kaise kare

Read Also – Indian traffic signs and symbol with their meanings

Read Also – Raat mai car drive kaise kare

Read Also – How to apply online driving license

चलिए अब कार चलाना सीखते है step by step :

Step 1 : सबसे पहले कार मे बैठ कर अपनी seating position को comfortable वाली position मे ले कर आये जिससे की आपके दोनों पैर – क्लच, ब्रेक एंड एक्सेलेटर पर आसानी से जा पाए| उसके बाद आप देखे की आपके हाथो और steering के बिच जयदा या कम अंतर् ना हो बस उतना ही अंतर् होना चाहिए जितना जरुरी हो| एक बार ये सब चेक करने के बाद seat बेल्ट पहन ले|

Step 2 : कार को स्टार्ट करे और क्लच को दबाये इसके बाद गाडी को फर्स्ट गियर मे डाले|

Step 3 : अब सामने देखते हुए धीरे धीरे क्लच को छोड़े और उसके साथ साथ धीरे धीरे एक्सेलेटर को प्रेस करे| इस स्टेप को करने से आपकी गाडी धीरे धीरे आगे बढ़ने लग जायगी| ध्यान रहे इस समय आपकी नज़र सामने होनी चाहिए और आपके हाथ steering पर|

Step 4 : जब कार की स्पीड 10-15 km तक हो जाये तो धीरे धीरे क्लच प्रेस करे और सेकंड गियर मे गाडी को डाल दे और accelerator पर पैर रखते हुए गाडी की स्पीड को बढ़ाते जाये| थोड़ी देर मे जब आपकी गाडी की स्पीड और बढ़ जाये तो कार को थर्ड गियर मे डाल कर चलाये|

Step 5 : यह practice खाली जगह पर करे और साथ मे किसी जानकर ड्राइवर को रखे| अभी आप प्रैक्टिस के लिए एक से तीन गियर तक ही गाडी चलाये और फिर 3 से दूसरे गियर मे जाए, 2nd से फिर तीसरे और इस तरह से स्पीड कभी कम करके चलाये और कभी जायदा करके| इस तरह से कुछ दिनों तक आप 20-25 minutes रोजाना practice करे|

Step 6 : पांचवी स्टेप कुछ दिनों तक फॉलो करने पर आपको आपकी गाडी का steering कण्ट्रोल समझ मे आ जायेगा और इसके साथ साथ कौनसी स्पीड मे कौनसा गियर लगाना है वो भी समझ मे आ जायेगा| थोड़े दिनों के बाद जब आपको थोड़ा बहुत confidence आ जाये तो फिर आप कम भीड़ भाड़ वाली जगह पर थोड़ी गाड़ियों के बिच गाडी चलाना शुरू करे और practice करते रहे |

इन सभी steps को practically समझने के लिए एक अच्छा video है ये देखे –

Leave a Reply