अटल पेंशन योजना की जानकारी हिंदी Atal pension Yojana in hindi

अटल पेंशन योजना क्या है

Atal pension Yojana in Hindi: भारत की सरकार ने June 2015 मे भारत के असंगठित सेक्टर के लोगो की help करने के इरादे से Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA) के एडमिनिस्ट्रेशन मे एक नयी पेंशन योजना launch की जिसको की अटल पेंशन योजना (APY) का नाम दिया गया है | अटल पेंशन योजना एक गारंटीड पेंशन स्कीम है जो की नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) के administration मे PFRDA (Pension Fund Regulatory and Development Authority) manage करता है |अटल पेंशन योजना मे individual के द्वारा जितना भी contribution पेंशन fund मे क्या जाता है सेंट्रल गवर्नमेंट भी उस कॉन्ट्रिब्यूशन का 50 % या max 1000 rs (दोनों मे से जो भी कम हो) उस fund मे 5 साल तक (2015-2020) contribute करेगी | गवर्नमेंट तभी आपके अकाउंट मे कंट्रीब्यूट करती है जब की आपका कॉन्ट्रिब्यूशन regular हो |

इस स्कीम को launch करने की पीछे सरकार का इरादा कमजोर सेक्शन के individual को पेंशन से जोड़ना है जो की उनकी old age के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा | वैसे इस योजना मे इस प्रकार का कोई प्रतिबंद नहीं की है केवल कमजोर सेक्शन के लोग इसको ले सकते हो, यह योजना कोई भी ले सकता है और इस योजना को launch करने के बाद ये देखा गया की private sector व् self-employed लोगो ने बहुत ज्यादा opt किया | इस योजना मे 60 के age के बाद पूरी life एक fixed amount की monthly पेंशन मिलती है लेकिन कितनी पेंशन मिलेगी वो depend करता है की individual ने कितना अमाउंट invest किया है | यह योजना प्रधानमंत्री जन धन योजना से linked है क्योकि जो भी कॉन्ट्रिब्यूशन पेंशन योजना मे करते है उस अमाउंट से money deduct हो कर zero balance वाले accounts मे deposit हो जाती है | यह करने का कारन जीरो बैलेंस वाले accounts को कम करके बैंक का financial burden कम है |

Eligibility – APY को 18-40 साल का कोई भी Indian citizen opt कर सकता है | इस योजना को opt करने के लिए आपके पास आधार नंबर एवेम एक परमानेंट मोबाइल नंबर होना जरुरी है | इस योजना के लिए आपके पास एक सेविंग अकाउंट होना जरुरी है |

क्या सेंट्रल गवर्नमेंट सभी के अकाउंट मे कंट्रीब्यूट करती है : नहीं, इसके लिए सबसे जरुरी requirement ये है की customer income tax payers नहीं होने के साथ साथ किसी भी स्टेट्यूटरी सोशल सिक्योरिटी स्कीम मे कवर नहीं होना चाहिए |

कम से कम कितने साल तक मुझे कॉन्ट्रिब्यूशन करना होगा – कम से कम 20 साल तक किसी भी individual को कॉन्ट्रिब्यूशन करना होता है |

60 साल के बाद कितनी मंथली पेंशन मिल सकती है – आज की date मे 1000, 2000, 3000, 4000 एवेम 5000 पेंशन का option है |

क्या बिच मे पेंशन अमाउंट बढ़ाया या कम किया जा सकता है – Yes, अमाउंट कम या ज्यादा किया जा सकता है लेकिन available अमाउंट ऑप्शन मे से ही चुना जा सकता है लेकिन ये switching केवल साल मे एक बार अप्रैल मे की जा सकती है |

पेंशन कब एवेम कितनी मिलती है : Individual की पेंशन 60 साल की उम्र हो जाने के बाद start होती है जो की उसकी डेथ तक मिलती रहती है | अगर individual की डेथ हो जाती है तो उसके पति या पत्नी को डेथ होने तक पेंशन मिलेगी | पति या पत्नी की भी डेथ हो जाने के बाद जो भी nominee होता है उसको इकट्ठा हुआ पूरा अमाउंट एक साथ दे दिया जाता है एवेम अकाउंट बंद हो जाता है | पेंशन अमाउंट के options है 1000, 2000, 3000, 4000 एवेम 5000 जो की Individual को choose करने होते है |

अगर बिच मे regular payment break हो जाता है तो क्या होता है : वापस से योजना मे आने के लिए बिच वाले टाइम पीरियड का interest अमाउंट एवेम principal अमाउंट पे करके वापस से ज्वाइन किया जा सकता है |

Read Also – प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना PMUY

Read Also – प्रधान मंत्री सुकन्या समृद्धि योजना

Contribution कितना करना होता है : इस योजना opt करने के बाद आप monthly, quarterly or half yearly पेमेंट ऑप्शन choose कर सकते है | आपको कितना contribution करना है ये depend करता है की 60 साल के बाद आप कितनी पेंशन चाहते है एवेम आप कितनी उम्र मे प्लान join करते है – निचे दिया गया chart देखे जिससे आपको पूरा clear हो जायेगा की कितनी पेंशन के लिए कितना contribution करना होगा –

atal pension yojana scheme details hindi

क्लोज or Exit Policy scheme before 60 years age :-  60 साल से पहले आप अपना अकाउंट क्लोज कर सकते है | उसके लिए दो केस है –

  1. अगर अकाउंट customer की डेथ या terminal illness (means ऐसी बिमारी जो की बहुत क्रिटिकल है एवेम उसके लिए बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत पड़ सकती है) की वजह से होता है तो आपको अकाउंट क्लोज करने के बाद आपको contribution + interest earned + गवर्नमेंट कॉन्ट्रिब्यूशन (if any) करके टोटल अमाउंट वापस customer के account मे credit कर दिया जाता है |
  2. अगर आप किसी और reason से अकॉउंट क्लोज करवाते है तो आपको केवल आपका contribution + interest earned amount का टोटल मे से बैंक के expense काटने के बाद का अमाउंट आपके अकॉउंट मे credit कर दिया जाता है | Read Government Circular related to closure account and closer form here

स्कीम को कैसे ज्वाइन किया जा सकता है : स्कीम को ज्वाइन करने के लिए आप किसी भी national or private बैंक मे जा कर APY का form भर सकते है |

क्या इस योजना मे register करने वाले customer को income tax benefit मिलता है – नहीं |

4 Comments

  1. Neetu Chaurasia September 26, 2017
  2. chandra shekhar November 9, 2017
    • Achha Gyan November 17, 2017

Leave a Reply

error: Content is protected !!